by - Praveen Bhatt

10 Jun 2020


उत्तराखंड

उत्तराखंड के युवा छात्रों की संस्था प्राउड पहाड़ी सोसाइटी प्रदेश की कला, संस्कृति के संरक्षण एवं समाजसेवा के अन्य कार्यां में निरन्तर लगी हुई है। यह संस्था 

 

राज्य की संस्कृति बोली, भाषा और अपनी पहचान को लेकर निरंतर कार्य करती आ रही है। इसी कड़ी में संस्था ने लॉक डाउन के समय में युवा कलाकारों को 

 

एक मंच पर लाने का काम किया। ऐसे युवा जो नृत्य व गायन में रुचि रखते हैं प्राउड पहाड़ी ने इन सभी को एक मंच प्रदान करने की पहल की। संस्था द्वारा 

 

अपने सोशल मीडिया पेज पर बीते 24 मार्च 2020 से 14 अप्रैल 2020 तक फोक्स ऑफ माउंटेन की थीम पर गायन और नृत्य की प्रतियोगिता आयोजित की। 

 

इस प्रतियोगिता में विभिन्न आयुवर्ग के 138 प्रतिभागियों ने भाग किया। संस्था ने निष्पक्षता का पूरा ध्यान ऱखते हुए प्रतियोगिता को समापन किया जिसमें 

 

निर्णायक के तौर पर उत्तराखंड के युवा लोक गायक सौरभ मैंठानी, युवा कथक नृत्यांगना आरुषि राणा व साहित्यकार व प्रकाशक प्रवीन कुमार भट्ट ने 

 

महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 

’गायन प्रतियोगिता में पहला स्थान देहरादून की सृष्टि काला व दूसरा स्थान देहरादून से ही राकेश मंद्रवाल और अखिलेश बहुगुणा ने हासिल किया।

प्रतियोगिता में शामिल रहे सभी प्रतिभागियों की प्रस्तुति प्रशंसनीय थी। निर्णायकों के लिए केवल दो प्रतिभागियों को विजयी घोषित करना काफी मुश्किल रहा। 

 

इसलिए निर्धारित प्रथम-द्वितीय विजेताओं के अतिरिक्त निर्णायकों द्वारा कुछ अन्य प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार के लिए चुना गया। सांत्वना पुरस्कार पाने 

 

वाले प्रतिभागी प्रीति कंडवाल और लेख - यमकेश्वर पौड़ी गढ़वाल, हिमांशु रतूड़ी - ऋषिकेश देहरादून, पार्थवी और पृथ्वी - देहरादून, विक्रम नंद काला जी - 

 

देहरादून (92 वर्ष) रहे। 

 

नृत्य प्रतियोगिता में पहला स्थान देहरादून की कनक पंवार व दूसरा स्थान पौड़ी गढ़वाल से अंजलि रावत ने हासिल किया। साथ ही निर्णायकों द्वारा जिया नेगी 

 

- पौड़ी गढ़वाल, दीप्ति नैनवाल - उधम सिंह नगर, अक्षिता बिजालवान व अनुक्रीति बिजालवान - देहरादून अर्पित सेमवाल व करन सिंह - देहरादून, सुमन कार्की 

 

- अल्मोड़ा, आँचल कुंवर - देहरादून सहित कुछ अन्य प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार के लिए चुना गया 

सोशल मीडिया पर मोस्ट पॉपुलर कैटेगरी के तौर पर ज्यादा पसंद की जाने वाली प्रस्तुति में महिमा रावत विजेता रही। इस बीच विभिन्न संस्कृतिकर्मी, युवा 

 

साहित्यकार, कवि अनिल कार्की, युवा लोक गायक व लेखक गणेश मर्तोलिया, युवा लोकगायक मनोज सामन्त, पंकज जीना, गायक संदीप रावत, राहुल राणा, 

 

दीपा दानू सभी ने लाइव सेशन में सभी प्रतिभागियों का मनोबल बढ़ाया।

साथ ही समाजसेवी जयदीप सकलानी जी और रघुबीर बिष्ट जी का भी सहयोग पूरे कार्य्रकम के दौरान मिलता रहा।

प्राउड पहाड़ी के गणेश धामी ने कहा कि जिन प्रतिभागियों ने संस्था की इस प्रतियोगिता में भाग लिया आप सभी का धन्यवाद व शुभकामनाएं। पहाड़ और 

 

पहाड़ी संस्कृति के प्रति आपका प्रेम बढ़ता रहे और हमारी संस्था से आप प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े रहें यही हमारी आशा है। आने वाले वक्त में हमारी 

 

संस्था राज्य स्तर की एक प्रतियोगिता का आयोजन करेंगी।

कार्यक्रम को-ऑर्डिनेटर पूजा बिष्ट और प्रकाश नेगी ने कार्य्रकम को कोआर्डिनेट किया साथ ही इस प्रतियोगिता को सफल बनाने में संस्था के सभी सदस्यों ने 

 

अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाई। कार्यक्रम को सफल बनाने में हृदेश शाही, विनोद बगियाल, पूजा खम्पा, गौरव बिष्ट, देवेंद्र बिष्ट, आस्था, हर्षिता, नेहा 

 

कैंतुरा, सुंदर धामी, निकिता, नवनीता, आस्था रावत, उर्मि, संदीप रावत, जेंनेट, आँचल, राहुल, किरण, कमल धामी, दीपा दानू आदि ने अपना योगदान दिया।







LEAVE A REPLY

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Captcha Code :

RECENT POSTS