by - Praveen Bhatt

25 Sep 2020


उत्तराखंड

देहरादून। श्री गुलाब सिंह राजकीय महाविद्यालय चकराता, देहरादून में राष्ट्रीय सेवा योजना का स्वर्ण जयंती समारोह धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय में एनएसएस से संबंधित एक फोटो प्रदर्शनी भी आयोजित की गई जिसमें एनएसएस की विभिन्न गतिविधियों को प्रदर्शित किया गया।

डॉ. के. एल. तलवाड़ जिस किसी भी महाविद्यालय में रहे वहां उन्होंने राष्ट्रीय सेवा योजना को नई उचाइयां प्रदान की हैं। चाहे वह राजकीय महाविद्यालय बड़कोट रहा हो या राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय डोईवाला। राजकीय महाविद्यालय बड़कोट के इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. विजय बहुगुणा ने उन्हें कई बार राष्ट्रीय सेवा योजना के भीष्म पितामह की संज्ञा दी है। उनका मानना है कि समूचे उत्तराखंड में डॉ. के.एल. तलवाड़ का इस क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान रहा है।

राजकीय महाविद्यालय चकराता में आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर डॉ. तलवाड़ ने बताया कि वर्ष 1969 में 24 सितंबर से शुरु हुई एन.एस.एस. ने अपनी स्थापना के पचास वर्ष पूरे कर लिए हैं और देश में एनएसएस की स्वर्ण जयंती वर्ष में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं।

प्राचार्य प्रो. के. एल. तलवाड़ जो एन.एस.एस. के राज्य स्तरीय न्यूज लैटर ’युवा संकल्प’ के संपादक भी रहे हैं, ने इसके 20 अंकों की फोटो प्रदर्शनी लगाई। ’युवा संकल्प’ के माध्यम से सभी एन.एस.एस. से जुड़े छात्र योजना की राज्य स्तरीय उत्कृष्ट उपलब्धियों से रू-ब-रू हुए। इस अवसर पर एक स्लाइड शो का भी प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर कार्यक्रम अधिकारी डा. कुलदीप चौधरी के निर्देशन में स्वयंसेवियों ने ऑनलाइन पोस्टर प्रतियोगिता में भाग लिया। कार्यक्रम में डा. सुनील कुमार, डा. संजीव शर्मा, डा. सीमा पुंडीर, डा. जितेंद्र दिवाकर, रोशन लाल, अंकुर शर्मा, मौहम्मद शफीक, रोशन बख्श, अर्जुन व विनोद जोशी आदि मौजूद रहे।

डॉ. केएल तलवाड़ ने इस अवसर पर सभी छात्रों से आह्वान किया कि अधिक से अधिक संख्या में एनएसएस से जुड़कर समाज सेवा व महाविद्यालय की बेहतरी के लिए कार्य करें।







LEAVE A REPLY

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Captcha Code :

RECENT POSTS